Wednesday, April 21, 2021
Home Breaking news उत्तराखंड में ग्लेशियर फटा, नदी में बाढ़ से हरिद्वार तक बढ़ा खतरा,...

उत्तराखंड में ग्लेशियर फटा, नदी में बाढ़ से हरिद्वार तक बढ़ा खतरा, अलर्ट जारी

उत्तराखंड के चमोली जिले के रैनी में ग्लेशियर फटने की सूचना है। बताया जा रहा है कि ग्लेशियर फटने से धौली नदी में बाढ़ आ गई है। इससे चमोली से हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया है। सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है। वहीं, चमोली जिले के नदी किनारे की बस्तियों को पुलिस लाउडस्पीकर से अलर्ट कर रही है। कर्णप्रयाग में अलकनंदा नदी किनारे बसे लोग मकान खाली करने में जुटे।

अपर जिलाधिकारी टिहरी शिव चरण द्विवेदी ने बताया कि धौली नदी में बाढ़ आने की सूचना मिलने के बाद जिले में अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही हरिद्वार जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है। सभी थानों और नदी किनारे बसी आबादी को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। ऋषिकेश में भी अलर्ट जारी किया गया है। नदी से बोट संचालन और राफ्टिंग संचालकों को तुरंत हटाने के निर्देश  दिए गए हैं।

वहीं, श्रीनगर जल विद्युत परियोजना को झील का पानी कम करने के निर्देश जारी किए गए हैं। ताकि अलकनंदा का जल स्तर बढ़ने पर अतिरिक्त पानी छोड़ने में दिक्कत न हो।

चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि काफी नुकसान की सूचना आ रही है। लेकिन अभी स्थिति स्पष्ट नहीं। टीम मौके पर जा रही है, उसके बाद ही नुकसान की स्थिति स्पष्ट होगी।

बताया जा रहा है कि ग्लेशियर फटने के बाद बांध क्षतिग्रस्त हुआ। जिससे नदियों में बाढ़ आ गई है। तपोवन बैराज पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। श्रीनगर में प्रशासन ने नदी किनारे बस्तियों में रह रहे लोगों से सुरक्षित स्थानों में जाने की अपील की है। वहीं, नदी में काम कर रहे मजदूरों को भी हटाया जा रहा है।

उधर, बाढ़ के बाद अब धौली नदी का जल स्तर पूरी तक रूका हुआ है। स्टेट कंट्रोल रूम के अनुसार, गढ़वाल की नदियों में पानी ज्यादा बढ़ा हुआ है। करंट लगने से कई लोग लापता बताए जा रहे है।

वहीं, मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिव आपदा प्रबंधन और डीएम चमोली से पूरी जानकारी प्राप्त की। मुख्यमंत्री लगातार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। संबंधित सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। लोगों से अपील की जा रही है कि गंगा नदी के किनारे न जाएं। वहीं, बताया जा रहा कि सीएम घटनास्थल का हवाई सर्वेक्षण भी कर सकते हैं। चमोली जिले के सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। वहीं, आला अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई जा सकती है।

उत्तराखंड के चमोली जिले अचानक से ग्लेशियर फटने की खबर सामने आई है। खबर के मुताबिक ग्लेशियर फटने से चमोली जिले में स्थित नदी जिसका नाम धौली है, में बाढ़ आ गई है इस कारण से हरिद्वार तक संकट आ गया है। प्रशासन तक सूचना पहुंचने के बाद ही प्रशासन ने कड़ेेे कदम उठाए और तुरंत ही बचाओ की टीम को तैनात कर दिया है। नदी  के किनारे रहने वाले लोगों को अलर्ट कर दिया है। कई जगह पुलिसकर्मियों ने घर भी खाली करवा दिए हैं।
यहां के जिलाधिकारी शिवचरण द्विवेदी ने बताया है कि नदी में बाढ़ आने की सूचना जैसे ही हमें प्राप्त हुई हमने पूरे जिले में हाई अलर्ट कर दिया है। नदी किनारे स्थित सभी ऋषिकेश, थाना और आबादी वाले क्षेत्र में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया है।
इस घटना के चलते दूसरी और श्रीनगर में विद्युत परियोजना के झील का पानी कम करने के लिए आदेश जारी किया गया है।

जिले के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने कहां है कि हमें काफी नुकसान होने की सूचना प्राप्त हो रही है कुल नुकसान की पुष्टि अभी नहीं की जा सकती है। हमने टीम को मौके पर हाई अलर्ट क्षेत्र में भेज दिया है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन टीम से पूरी जानकारी प्राप्त की और कहां की जिन जिन क्षेत्रों में अधिक खतरा है वहांपर 24 घंटे निगरानी की जाए।

Apni Khabarehttps://apnikhabare.com
Apni khabare brings articles, news and views in Hindi in the best way. We bring you special news regularly. Follow us for similar news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular