Wednesday, April 21, 2021
Home Astrology Rudraksha and Parad: इस होली धारण करें रूद्राक्ष और पारद की माला,...

Rudraksha and Parad: इस होली धारण करें रूद्राक्ष और पारद की माला, फायदे जानकर रह जाएंगे दंग

भगवान शिव जी से रूद्राक्ष और पारद (Rudraksha and Parad) जुड़े हुए रहते हैं। अगर आसान शब्दों में कहा जाए तो भगवान से जिनको यह दोनों ही काफी प्रिय लगते हैं। जैसा की आप सबको पता है कि रुद्राक्ष को भगवान शिव जी के अश्रु के रूप में जाना जाता है। रूद्राक्ष और पारद दोनों ही मनुष्य के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं यह मनुष्य की कई विभिन्न समस्याओं को दूर कर देते हैं। बहुत से व्यक्ति होते हैं जो इनको धारण करते हैं। जो व्यक्ति सुख धन-संपत्ति मान सम्मान प्राप्त करना चाहता है उसको तंत्र और रस शास्त्र से मिलकर बनी माला को धारण करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें- Vivo X60 Series: विवो के दमदार 3 फोन, गिंबल स्टेबलाइजेशन और 12gb रैम के साथ यह है खास

अगर देखा जाए तो रूद्राक्ष और पारद की माला को कभी भी धारण किया जा सकता है, परंतु इनके धारण करने की कुछ विशेष दिन भी निश्चित किए गए हैं जो व्यक्ति इन निश्चित दिन पर धारण करता है, उसके लिए वह अधिक प्रभावी होती है। रूद्राक्ष और पारद से निर्मित माल आपको आप शिवरात्रि नवरात्रि धनतेरस होली दीपावली और अक्षय तृतीया के दिन धारण कर सकते हैं। अभी हाल ही में होली का शुभ पावन पर्व आने वाला है इसके दिन आप इस से निर्मित माला को धारण कर सकते हैं।

ऐसे बनतीं है रूद्र-पारद (Rudraksha and Parad) माला

मुख्य रूप से अधिकतर माला 108 दानों की निर्मित की जाती हैं। जब रूद्राक्ष और पारद की माला को निर्मित किया जाता है तो इन दोनों के दानों की संख्या 54 रखी जाती है। इन दोनों के दोनों को सम और विषम परिस्थितियों में पिरोया जाता है। माला में सबसे पहले रुद्राक्ष का और बाद में पारद को पिरोया जाता है। रूद्राक्ष और पारद (Rudraksha and Parad) से निर्मित माला का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इस माला में भगवान शिव, लक्ष्मी, गौरी, गणेश का वास होता है।

धारण

जैसा कि हम ने बताया कि रूद्राक्ष और पारद से निर्मित माला को एक निश्चित दिन को ही धारण किया जाना चाहिए। माला को धारण करते हुए भगवान शिव के पंचाक्षरी मंत्र का उच्चारण करना चाहिए। इसके अलावा धारण करने से पहले गंगाजल से स्नान व शिव जी के चरणों को स्पर्श करें।

कौन सा रुद्राक्ष किस व्यक्ति को धारण करना चाहिए और इस रुद्राक्ष को धारण करने से क्या लाभ होता है इसके बारे में हम चर्चा करेंगे: –

एक मुखी रुद्राक्ष -एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से मनुष्य को यस धन प्राप्त होता है, इस रुद्राक्ष को शास्त्रों में भगवान शिव का ही स्वरूप बताया गया है।

दो मुखी रुद्राक्ष -इस रुद्राक्ष के को धारण करने वाले व्यक्ति के पाप नष्ट होते हैं, इसी देवता और देवियों इनको समाहित करके बनाया गया है।

पंचमुखी रुद्राक्ष -इस रुद्राक्ष को धारण करने से मनुष्य के अंदर शांति और संतोष की भावना जागृत होती हैं। पंचमुखी रुद्राक्ष स्वयं भगवान रूद्र के समान बताया गया है।

चमत्कारिक लाभ

  • माला को धारण करने वाले व्यक्ति में सदैव सकारात्मक सोच बनी रहती है।
  • जीवाणुओं और विषाणु के संक्रमण से रक्षा करने के लिए भी माला सिद्ध होती है।
  • शरीर में नई ऊर्जा और मानसिक शक्ति उच्च स्तर पर बनी रहती है।
  • शरीर से नकारात्मक सोच दूर रहती है।

Mihirwan Singh
मिहिरवान सिंह अनुभवी लेखक है। उन्हें लेख लिखना काफी पसंद है और वह इस प्रकार के लेख काफी लंबे समय से लिखते आ रहे हैं। वह अपने लेख के माध्यम से लोगों को अधिक से अधिक जानकारी देना चाहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular